Thursday, July 25
Shadow

‘राहुल गांधी का नेतृत्व देश में चमत्कार करेगा’, भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के बाद बोले संजय राउत

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा जम्मू के लखनपुर से होते हुए कठुआ, हीरानगर, बनिहाल टनल होते हुए कश्मीर घाटी तक जाएगी. वह श्रीनगर में 30 जनवरी को एक वि विशाल रैली के साथ यात्रा का समापन करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने भारत जोड़ो यात्रा के समापन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए 23 राजनीत दलों को चिट्ठी लिखी है .

राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा कश्मीर पहुंच चुकी है. शुक्रवार को राहुल ने जम्मू के कठुआ से अपनी यात्रा की शुरुआत की. उनकी इस यात्रा में महाराष्ट्र से शिवसेना सांसद संजय राउत भी शामिल हुए थे. इस बीच अब शनिवार को जम्मू में संजय राउत ने एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया.

इस दौरान उन्होंने कहा कि राहुल का बयान बहुत अच्छा लगा कि उन्होंने राहुल गांधी को मार दिया. मुझे वो बयान अच्छा लगा. भाजपा ने एक इमेज बनाई है .राहुल गांधी की, राहुल उसे पीछे छोड़ चले हैं. राहुल का नेतृत्व आने वाले समय में देश में चमत्कार करेगा. वो अपने नेतृत्व की चमक दिखायेंगे .

बता दें कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा जम्मू के लखनपुर से होते हुए कठुआ, हीरानगर, बनिहाल टनल होते हुए कश्मीर घाटी तक जाएगी. वह श्रीनगर में 30 जनवरी को एक विशाल रैली के साथ यात्रा का समापन करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने भारत जोड़ो यात्रा के समापन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए 23 राजनीतिक दलों को चिट्ठी लिखी है.

मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों का दर्द बांटने आया हूं: राहुल

राहुल गांधी गुरुवार शाम को ही लखनपुर पहुंच गए थे. यहां उन्होंने महाराजा गुलाब सिंह की प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किए थे. नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने हाथ में मशाल लेकर उनका स्वागत किया था. इस दौरान उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों ने बहुत दुख देखे हैं. मैं यहां के लोगों का दुख-दर्द बांटने आया हूं. उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले मेरा परिवार जम्मू-कश्मीर में रहता था. जिस धरती पर मेरा परिवार रहता था, वहां मैं पैदल चलकर जा रहा हूं.

राहुल को यात्रा पैदल न करने की सलाह

सुरक्षा एजेंसियों को राहुल की सुरक्षा को लेकर सबसे बड़ी चिंता उनकी घाटी में होने वाली पैदल यात्रा है. यात्रा घाटी के कुछ ऐसे रास्तों से गुजरेगी, जहां फूल प्रूफ सिक्योरिटी के इंतजाम किए जा रहे हैं. यहां उनकी पुख्ता सुरक्षा कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ करेगी. एजेंसियों ने राहुल गांधी के इनर घेरे में सिर्फ उनके जाने-पहचाने लोगों को ही शामिल करने की सलाह दी है. इसके साथ ही कश्मीर में कुछ जगहों पर पैदल न चलकर गाड़ी से यात्रा करने की सलाह दी गई है. वहीं जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने मंगलवार को कहा था कि राहुल गांधी को पर्याप्त सुरक्षा दी जाएगी. पैदल यात्रा की अनुमति पर उन्होंने जवाब दिया था कि इसे इस तरह से तय किया जाएगा कि लोगों को किसी भी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े. यात्रा को जहां भी जरूरत होगी, सुरक्षा दी जाएगी.