Wednesday, July 24
Shadow

Blog

Your blog category

एक पेड़ शहीदों के नाम – ललित जोशी।

एक पेड़ शहीदों के नाम – ललित जोशी।

Blog, उत्तराखंड
माँ भारती के नाम एक पेड़- ललित जोशी  अमर हिंदुस्तान प्रदेश में इन दिनों हरेला महोत्सव चल रहा है। वन विभाग के साथ ही विभिन्न संस्थाओं व संगठनों द्वारा भी वृक्षारोपण अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में शनिवार 22 जुलाई को सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज देहरादून द्वारा एक पेड़ शहीदों के नाम अभियान चलाकर वृक्षारोपण किया। संस्थान के चेयरमैन एडवोकेट ललित मोहन जोशी व कॉलेज के छात्र-छात्राओं ने कॉलेज परिसर के चारों ओर वृक्षारोपण कर देश के लिए शहीद हुए वीर जवानों को याद करते हुए पर्यावरण बचाने का संकल्प लिया। इस दौरान कॉलेज परिसर के चारों ओर फलदार वृक्षों के साथ ही औषधीय वृक्ष भी लगाए गए। संस्थान के चेयरमैन ललित जोशी ने छात्र-छात्राओं से अपने घरों के आस-पास भी पेड़ लगाने व उनकी देखभाल करने की अपील की।कॉलेज के चेयरमैन ललित मोहन जोशी ने वृक्षारोपण कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं के साथ वृक्ष...
किसानों काश्तकारों के हित में मह                                                                                                                                                                                           किसानों काश्तकारों के हित में महाराष्ट्र सरकार की तर्ज पर उत्तराखंड सरकार भी करे समाधान=भोपाल सिंह चौधरी

किसानों काश्तकारों के हित में मह किसानों काश्तकारों के हित में महाराष्ट्र सरकार की तर्ज पर उत्तराखंड सरकार भी करे समाधान=भोपाल सिंह चौधरी

Blog, उत्तराखंड
अमर हिन्दुस्तान श्रीनगर गढ़वाल। किसानों काश्तकारों के हित में महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री एकनाथ शिंदे की तर्ज पर यदि उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री व अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री अनुकरण करेंगें तो ग्लोबल वार्मिंग,पलायन नहीं होगा,खासकर उत्तराखण्ड से जो किसान काश्तकार अपने जल,जमीनों को छोड़कर पलायन कर चुके है वो वापस पुनःलौट आयेगे,क्योंकि उनको जीवन यापन करने के लिये नई प्रकार की खेती करके कृषि लागत का मूल्य मिल जायेगा उस खेती को जंगली जानवर बन्दर,लंगूर भी नुकसान नहीं पहुंचा सकेंगे। आपको बता दे कि 11 जून को कृषि लागत मूल्य आयोग के अध्यक्ष डॉ.विजयपाल शर्मा को अध्यक्षता में 6 राज्यों की मुम्बई में एक बैठक सम्पन्न हुई थी,और इस बैठक का आयोजन बैम्बूमेन आफ इंडिया के नाम से मशहूर किसान नेता पाशा पटेल द्वारा किया गया था। पाशा पटेल वर्तमान में महाराष्ट्र के कृषि लागत एवं मूल्य आयोग के अध्यक्ष भी है। इस सराह...
पत्रकारों को जनसंवेदनाओं के साथ जुड़कर काम करना चाहिए/तरूण विजय

पत्रकारों को जनसंवेदनाओं के साथ जुड़कर काम करना चाहिए/तरूण विजय

Blog, उत्तराखंड
उत्तराखंड पत्रकार महासंघ द्वारा हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर किया समेलन Amar hindustan  देहरादून । वरिष्ठ स्तम्भकार और पूर्व राज्यसभा सदस्य तरूण विजय ने कहा है कि पत्रकारों को जनसंवेदनाओं के साथ जुड़कर काम करना चाहिए और क्या लिखना है ।किसके लिएलिखना है, क्यों लिखना है ।इस पर चिन्तन करना चाहिए । श्री तरूण विजय गुरूवार को देहरादून के आईआरडीटी प्रेक्षागृह में उत्तराखंड पत्रकार महासंघ द्वारा हिन्दी पत्रकारिता दिवस पर वर्तमान परिपेक्ष में पत्रकारिता की चुनौतियां और समाधान विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। पांचजन्य के पूर्व सम्पादक ने खुद को विषय के जोड़ते हुए कहा कि जब तक प्राण है तब तक चुनौतियां है। निष्प्राण को चुनौती नहीं होती। पत्रकारिता के सामने चुनौती का अर्थ है कि उसमे प्राण है। उन्होंने कहा कि सत्य की आराधना करने वाले पत्रकार के लिए हमेशा चुनौती रही है। सत्ता क...