Friday, July 19
Shadow

मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने जारी किया ‘आरोप पत्र’, राहुल गांधी का संदेश घर-घर पहुंचाएगी पार्टी

कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा, 26 जनवरी से शुरू हो रहे कांग्रेस के अभियान के तहत पार्टी ‘आरोपपत्र’ और यात्रा के संदेश के साथ राहुल गांधी के पत्र को हर घर तक पहुंचाएगी।

कांग्रेस ने शनिवार को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ ‘आरोप पत्र’ जारी किया। विपक्षी पार्टी ने भाजपा को ‘भ्रष्ट जुमला पार्टी’ करार दिया और आरोप लगाया कि इसका मंत्र ‘कुछ का साथ, खुद का विकास, सबके साथ विश्वासघात’ है। पार्टी ने यह भी कहा कि भारत जोड़ो यात्रा का नेतृत्व कर रहे राहुल गांधी श्रीनगर के लाल चौक इलाके में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे और इसके बाद शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में एक जनसभा को संबोधित करेंगे, जो कश्मीर से कन्याकुमार तक की पदयात्रा के समापन का प्रतीक होगा।

कांग्रेस के हाथ से ‘हाथ से जोड़ो अभियान’ के लोगो का अनावरण
यहां कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस को संबोधित करते हुए पार्टी के महासचिव जयराम रमेश और केसी वेणुगोपाल ने पार्टी के अगले अभियान ‘हाथ से हाथ जोड़ो अभियान’ के लोगो का भी अनावरण किया। यह लोगो भारत जोड़ो यात्रा के लोगों के समान है, लेकिन अंतर केवल यही है कि इसमें कांग्रेस के चुनाव चिह्न ‘हाथ’ को जोड़ा गया है जो दिखाता है कि यह अभियान 100 फीसदी राजनीतिक होगा।

राहुल  गांधी के पत्र को घर-घर तक पहुंचाएगी कांग्रेस

वेणुगोपाल ने कहा, 26 जनवरी से शुरू हो रहे कांग्रेस के अभियान के तहत पार्टी ‘आरोपपत्र’ और यात्रा के संदेश के साथ राहुल गांधी के पत्र को हर घर तक पहुंचाएगी। दोनों नेताओं द्वारा जारी ‘आरोपपत्र’ में भाजपा को ‘भ्रष्ट जुमला पार्टी’ करार दिया गया है और आरोप लगाया गया है कि इसका मंत्र ‘कुछ का साथ, खुद का विकास और सबके साथ विश्वासघात’ है।

कांग्रेस की ओर से पत्र में क्या लगाए गए आरोप

कांग्रेस द्वारा साझा किए गए एक पन्ने के ‘आरोप पत्र’ को तीन वर्गों में बांटा गया है- ‘कुछ का साथ’, ‘खुद का विकास’ और ‘सबके साथ विश्वासघात’। ‘आरोपपत्र’ के ‘कुछ का साथ’ खंड के तहत पार्टी ने आरोप लगाया कि कुछ चुनिंदा कारोबारियों की कर्जमाफी, भारत की 64 प्रतिशत संपत्ति रखने वाले 10 फीसदी धनी और बंदरगाह एवं हवाई अड्डे प्रधानमंत्री के ‘करीबी मित्रों’ को ‘उपहार’ में दिए गए।  ‘खुद का विकास’ खंड में कांग्रेस ने भाजपा पर दुष्प्रचार पर करोड़ों रुपये खर्च करने और भाई-भतीजावाद में शामिल होने का आरोप लगाया।तीसरे खंड में पार्टी ने बेरोजगारी, खाद्य सुरक्षा, महिला सुरक्षा, किसानों की दुर्दशा, नफरत फैलाने वाले भाषण, निर्वाचित सरकारों को गिराने और विभिन्न क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय सूचकांकों में भारत की रैंकिंग जैसे कई मुद्दे उठाए।

पार्टी की राज्य इकाइयां भी तैयार करेंगी ‘आरोप पत्र’

वेणुगोपाल ने कहा कि इस ‘आरोपपत्र’ के साथ ही पार्टी की संबंधित राज्य इकाइयां राज्य सरकारों के खिलाफ भी ‘आरोप पत्र’ तैयार करेंगी। उन्होंने कहा, ‘यह 100 फीसदी राजनीतिक अभियान है। यात्रा के बारे में ऐसा नहीं कहा जा सकता। यह यात्रा का दूसरा चरण भी है। हम 10 लाख मतदान केंद्रों, छह लाख गांवों और 2.5 लाख ग्राम पंचायतों तक पहुंचने का प्रयास करेंगे।

लाल चौक पर तिरंगा क्यों नहीं फहरा रहे राहुल गांधी?

यह पूछे जाने पर कि राहुल गांधी लाल चौक पर तिरंगा क्यों नहीं फहरा रहे हैं, रमेश ने कहा कि इसकी सही रिपोर्ट नहीं की जा रही है क्योंकि प्रदेश कांग्रेस कार्यालय लाल चौक में है और यह स्वाभाविक है कि पार्टी के पूर्व प्रमुख और भारत जोड़ो यात्रा के प्रमुख नेता राहुल गांधी पार्टी कार्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। वेणुगोपाल ने कहा कि भविष्य की पीढ़ियों के लिए एक ‘स्थायी संरचना’ बनाने पर विचार किया जा रहा है। इसलिए कांग्रेस की अपनी संपत्ति को चुना गया।

अंतिम चरण में कश्मीर घाटी में होगी ‘भारत जोड़ो यात्रा’

उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा अपने अंतिम चरण में है और यह 27, 28 और 29 जनवरी को कश्मीर घाटी में होगी। उन्होंने कहा, ‘यात्रा 29 जनवरी को खत्म होगी। 30 जनवरी को सुबह 10 बजे राहुल गांधी प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। सुबह 11 बजे श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में एक जनसभा होगी।’ वेणुगोपाल ने कहा कि बैठक के लिए कई विपक्षी नेताओं को आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा कि जिस समय राहुल गांधी राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे, उस समय सभी जिला कांग्रेस प्रमुख भी अपने-अपने कार्यालयों में तिरंगा फहराएंगे।

आदिवासियों के दस्तावेजों का डिजिटलीकरण करने वाला पहला राज्य वायनाड

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आदिवासियों के दस्तावेजों का डिजिटलीकरण करने वाला पहला भारतीय जिला बनने पर शनिवार को केरल के वायनाड को बधाई दी।  लोकसभा में वायनाड का प्रतिनिधित्व करने वाले राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, एक सशक्त आदिवासी समुदाय एक मजबूत भारत की आधारशिला है।    उन्होंने कहा, ”गर्व है कि वायनाड सभी आदिवासियों के लिए बुनियादी दस्तावेजों को प्रदान करने और डिजिटाइज करने वाला भारत का पहला जिला है। उन्होंने इस पहल के लिए जिला प्रशासन, स्थानीय निकायों और जन प्रतिनिधियों के सामूहिक प्रयासों की सराहना की।