Wednesday, July 24
Shadow

अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में उच्च हिमालयी क्षेत्र के भ्रमण पर आयेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- दो दिवसीय प्रवास के तहत चौदास घाटी स्थित नारायण आश्रम में करेंगे रात्रि विश्राम- पिथौरागढ में जनसभा को भी करेंगे संबोधित

नैनीताल- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अक्तूबर दूसरे सप्ताह में उच्च हिमालयी क्षेत्र का भ्रमण कार्यक्रम संभावित है।
पीएम मोदी अपने दो दिनी प्रवास में एक दिन धारचूला के चौदास घाटी स्थित नारायण आश्रम में रात्रि विश्राम करेंगे।
आपको बता दें कि नारायण आश्रम की स्थापना वर्ष 1936 में कर्नाटक के संत नारायण स्वामी ने की। उन्होंने इस भूमि को हिमालय के इस ओर का कैलाश की संज्ञा दी।
पहाड़ पत्रिका के अंक में नारायण स्वामी सृजन एवं साधना अंक के लेखक डॉ. ललित पंत ने वर्ष 1954 में पहली बार स्वामी के दर्शन किए इसके बाद कई बार वह अपने माता-पिता के साथ उनके सानिध्य में रहे।
1935 में कैलाश मानसरोवर की यात्रा के बाद वापसी में स्वामी ने तपोवन में डेरा डाला।
एकांत साधना के क्षण में उन्हें लगा कि हिमालयी अंचल ही उनका कार्य क्षेत्र होना चाहिए उनके मन में आश्रम की रूपरेखा बन गई।
इस विचार को मूर्त रूप देने में पं. ईश्वरी दत्त पांडे जैसे शिष्य उन्हें मिले

चौदास घाटी के सोसा के ग्रामीणों ने नारायण स्वामी के तेजस्वी व्यक्तित्व से प्रभावित होकर आश्रम के भूदान करना स्वीकार किया।
26 मार्च 1936 को आश्रम स्थापना का कार्य संपन्न हुआ इसमें एक कुटिया बनाई गई जिसमें स्वामी ध्यान लगाते थे। 1939 में पक्के भवन का निर्माण शुरू हुआ।
गंगानगर, बड़ौदा, अहमदाबाद, पूजा, मुंबई के नारायण भक्तों ने धन का दान दिया।

अगस्त 1946 में यहां भगवान नारायण की मूर्ति स्थापित की प्राण प्रतिष्ठा की गई।
पीएम मोदी के आगमन को लेकर भाजपा संगठन ने भी अपनी तैयारियों को तेज कर दिया है इसके लिये प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट कल पिथौरागढ पहुंचकर तमाम व्यवस्थाओं का जायजा भी लेंगे।