Friday, July 19
Shadow

इंडिया Vs भारत के चलते बदला गया Akshay Kumar की फिल्म का नाम? जानिए ‘मिशन रानीगंज’ में क्या है नया बदलाव

इंडिया Vs भारत के चलते बदला गया Akshay Kumar की फिल्म का नाम? जानिए ‘मिशन रानीगंज’ में क्या है नया बदलाव

अक्षय कुमार बीते दिनों अपनी हालिया रिलीज ‘ओएमजी 2’ को लेकर चर्चा में बने हुए थे। अब एक्टर अपनी अपकमिंग फिल्म को लेकर चर्चा में आ गए हैं। एक्टर की फिल्म ‘मिशन रानीगंज- द ग्रेट भारत रेस्क्यू’ का टीजर रिलीज किया गया। टीजर रिलीज होते ही मेकर्स ने एक ऐसा बदलाव की किया कि फिल्म को लेकर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई। फिल्म के लीडिंग एक्टर्स अक्षय कुमार और परिणीति चोपड़ा ने फिल्म का पोस्टर और टीजर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया, जिसके कुछ देर बाद ही दोनों ने इसमें बदलाव किया।

नाम में किया गया बदलाव

दरअसल, दोनों ही लीडिंग एक्टर ने फिल्म के पोस्टर और टीजर वाले पोस्ट में फिल्म के नाम में बदलाव किया। फिल्म का नाम पहले ‘मिशन रानीगंज- द ग्रेट इंडिया रेस्क्यू’ था, जिसे बदलकर ‘मिशन रानीगंज- द ग्रेट भारत रेस्क्यू’ किया गया है। माना जा रहा है कि ये बदलालव इंडिया Vs भारत को लेकर छिड़ी बहस के मद्देनजर किया गया है। इसके पीछे की असल वजह क्या है, ये तो न फिल्म के लीडिंग एक्टर्स और न ही मेकर्स ने अभी बताई है, लेकिन जब से नाम बदला गया है लोग सोशल मीडिया पर अक्षय कुमार को जमकर ट्रोल कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि इंडिया Vs भारत की बहस के बीच अक्षय कमार ने अपना झुकाव जाहिर किया है।

इस दिन रिलीज होगी फिल्म
‘मिशन रानीगंज- द ग्रेट भारत रेस्क्यू’ अगले महीने यानी 6 अक्टूबर 2023 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। फिल्म को टीनू सुरेश देसाई ने रिलीज किया है। फिल्म अक्षय कुमार और परिणीति चोपड़ा लीड रोल में हैं। अक्षय कुमार एक बार फिर सरदार के रोल में नजर आ ने वाले हैं। ये फिल्म एक रियल लाइफ रेस्क्यू ऑपरेशन पर आधारित है। इसके पोस्टर जारी करते हुए अक्षय कुमार ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट साझा किया, जिसमें उन्होंने लिखा, ‘हीरो सही काम करने के लिए किसी मेडल मिलने का इंतजार नहीं करते। भारत के असल हीरो की कहानी मिशन रानीगंज 6 अक्टूबर को सिनेमाघरों में देखें। इसका टीजर जारी कर दिया गया है।’

कैसा होने वाला है अक्षय का किरदार
बता दें, इस फिल्म में अक्षय कुमार जसवंत सिंह गिल के रोल में नजर आने वाले हैं। वही जसवंत सिंह जिन्होंने 1989 में एक बाढ़ग्रस्त खदान में फंसे 64 मजदूरों की जान बचाई थी। इस सराहनीय कार्य के लिए जसवंत सिंह को कई अवॉर्ड्स भी मिले। अमृतसर के रहने वाले जसवंत सिंह की 80 साल की उम्र में मौत हो गई। साल 2019 में उन्होंने दुनिया को अलविदा कहा।